No icon

स्कूल-कालेज बंद

बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या में 3 गिरफ्तार धारा 144 लागू करने के आदेश

कर्नाटक के शिवमोग्गा में बजरंग दल के कार्यकर्ता की हत्या के मामले में पुलिस ने अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। हत्या के बाद सोमवार को जिले में निषेधाज्ञा लगा दी गई है। 26 वर्षीय बजरंग दल कार्यकर्ता हर्ष की रविवार देर रात शिवमोग्गा के सिगेहट्टी में हत्या कर दी गई थी। उसकी शवयात्रा के दौरान लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और ¨हसा भड़क गई। लोगों ने पथराव भी किया जिसमें एक महिला सिपाही और फोटो पत्रकार समेत कई लोग घायल हो गए। गंभीर हालात को देखते हुए शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है और एहतियात के तौर पर सोमवार को स्कूल और कालेज भी बंद कर दिए गए। बजरंग दल ने हत्याकांड के विरोध में बुधवार 23 फरवरी को राज्य व्यापी बंद का आह्वान किया है।

हिजाब का विरोध करने पर हत्या

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष ने सिलसिलेवार ट्वीट किया, 'शैक्षणिक संस्थाओं में ड्रेस का समर्थन और हिजाब का विरोध करने पर हर्ष को जिहादी कट्टरपंथियों ने शिमोगा में उसके घर के सामने बेरहमी सा मार डाला। राष्ट्र विरोधी, हिंदू विरोधी कट्टरपंथी ताकतों द्वारा हर्ष की हत्या कर दी गई है।'

कट्टरपंथियों के निशाने पर था हर्ष

उन्होंने कहा कि 'वह कट्टरपंथियों के निशाने पर था। बलिदानी हर्ष को श्रद्धांजलि। दुख की इस घड़ी में हम सभी उसके परिवार के साथ हैं। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने भी कहा कि स्कूल-कालेज में हिजाब के खिलाफ अभियान का समर्थन करने पर हर्ष की हत्या की गई। वहीं, केंद्रीय राज्यमंत्री शोभा करांदलजे ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इस मामले की एनआइए से जांच कराने की मांग की है।

तीन गिरफ्तार

राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने कहा कि 28 वर्षीय हर्ष की हत्या के मामले में अभी तक तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मामले की विस्तृत जांच जारी है। जांच के बाद ही हत्या के कारणों और उसके लिए जिम्मेदार लोगों के बारे में कुछ कहा जा सकेगा।

हत्या करने में पांच लोग शामिल

हालांकि, समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक पुलिस ने शिमोगा से कासिफ नामक व्यक्ति को पकड़ा। उससे मिली जानकारी के बाद दो अन्य आरोपितों को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया। कासिफ ने पुलिस को बताया कि हर्ष की हत्या करने में पांच लोग शामिल थे। पुलिस अब शेष दो आरोपितों की तलाश कर रही है।

रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती, 1,200 से ज्यादा पकड़े गए

हर्ष की हत्या की खबर फैलते ही रविवार देर रात को ही लोगों का हुजूम अस्पताल पर उमड़ पड़ा। सोमवार को जब उसकी शवयात्रा निकाली गई तो लोग बेकाबू हो गए। लोगों ने पथराव किया और कई वाहनों में आग लगा दी। गृह मंत्री ज्ञानेंद्र ने कहा कि हिंसा और आगजनी में 1,200 से ज्यादा लोगों को पकड़ा गया है।

धारा-144 लगाई गई

हालात को काबू में करने के लिए रैपिड एक्शन फोर्स के साथ ही आस-पास के जिलों की फोर्स को भी शिमोगा में तैनात किया गया है। शहर में धारा 144 लगा दी गई है और अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुरुगन खुद हालात पर नजर रख रहे हैं।

मिल रही थी धमकियां

समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक पेशे से टेलर हर्ष शिमोगा में बजरंग दल का प्रखंड समन्वयक था। कुछ दिन पहले उसने एक इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म एक धर्म विशेष को लेकर पोस्ट लिखा था, जिसके बाद उसके खिलाफ शहर के डोडापेट थाने में शिकायत दर्ज कराई गई थी। उसे फोन पर जान से मारने की धमकियां भी मिल रही थीं।

धारदार हथियार से हमला

रविवार को रात नौ बजे के करीब भारती कालोनी में रविवर्मा मार्ग पर कार से आए बदमाशों ने उसे दौड़ाया और धारदार हथियार से बुरी तरह मारकर फरार हो गए। हर्ष को तुरंत मेगन अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

इस घटना की सूचना मिलते ही देर रात को ही लोगों का हुजूम अस्पताल पर उमड़ पड़ा। सोमवार को जब उसकी शवयात्रा निकाली गई तो लोग बेकाबू हो गए। लोगों ने पथराव किया, हालात को काबू में करने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

घरवालों से मिले राज्य के गृह मंत्री

राज्य के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने हर्ष के परिवार से मुलाकात की और दोषियों को सख्त सजा दिलाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि अभी यह जानकारी नहीं है कि इस हत्याकांड के पीछे किस संगठन का हाथ है।

दो लोग गिरफ्तार

पुलिस ने हत्या में शामिल सभी लोगों के बारे में पूरी जानकारी जुटा ली है। दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और जल्द ही सभी लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एक सवाल पर ज्ञानेंद्र ने कहा कि हर्ष ¨हदू था और उसके खिलाफ कुछ केस दर्ज होने की सूचना है, लेकिन इससे ज्यादा उन्होंने कुछ नहीं कहा।

एडीजीपी खुद रख रहे हालात पर नजर

शिमोगा की उपायुक्त सेल्वामणि ने कहा कि शहर में दो दिन के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुरुगन कानून व्यवस्था की स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और जल्द से जल्द हालात को काबू में कर लिया जाएगा। मुरुगन ने कहा कि पुलिस के आला अधिकारी जगह-जगह जा रहे हैं और हालात के मुताबिक सख्ती बरत रहे हैं।

हर्ष के लिए परिवार ने मांगा न्याय

हर्ष के परिवार ने न्याय की मांग की है। हर्ष की बहन ने कहा कि उसकी सिर्फ एक ही मांग है कि उसके भाई को न्याय मिले। हर्ष के भाई प्रवीण ने कहा कि उसका भाई संगठन का सक्रिय सदस्य था। वह ¨हदुओं के हित के बारे में सोचता था, इसीलिए उसकी हत्या की गई। जबकि, हर्ष के पिता ने कहा कि ऐसी घटना किसी के साथ भी नहीं होनी चाहिए। हर्ष की मां ने कहा कि उनके बेटे ने देश के लिए जान दे दी।

टीम गठित, सीएम ने की शांति की अपील

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मुरुगन ने कहा कि मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। उन्होंने कहा कि हिंसा और संपत्ति के नुकसान में जो कोई भी शामिल होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री बासवराज बोम्मई ने बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या पर दुख जताते हुए लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। उन्‍होंने कहा कि मामले की जांच कराकर दोषियों को सख्त सजा दिलाई जाएगी।

 

Comment As:

Comment ()